Divya Swasari Bhasma Patanjali in Hindi – दिव्य श्वासारि भस्म

Divya Swasari Bhasma Patanjali in Hindi – दिव्य श्वासारि भस्म

यह Divya Swasari Bhasma आपके पतंजलि द्वारा बनाया जाता है जो की एक आयुर्वेदिक दवा है | जानिए इस दवा का content, इसका use, होने वाले side-effects, dosage, और mrp price India में कितनी है | यह Divya Swasari का उपयोग lungs के लिए किया जाता है | यह स्वामी रामदेव द्वारा निर्मित एक दिव्य आयुर्वेदिक भस्म है | यह प्राकृतिक जड़ी बूटियों से बना हुआ है जिसका उपयोग सांस सम्बन्धी समस्याएं जैसे की ,खांसी ,अस्थमा और कंठ की समस्याओं को ठीक करता है | Divya Swasari Bhasm wiki से जुडी अधिक जानकारी नीचे दी गई है |

Divya Swasari Bhasm

  1. Composition – सामाग्री
  2. Uses – उपयोग एवं इस्तेमाल
  3. Side effect – दुष्प्रभाव
  4. Precaution – सावधानियां
  5. Dosage – खुराक
  6. MRP Price – मूल्य

Divya Swasari Bhasm- Compositions Ingredients

यह औषधि विभिन्न प्राकृतिक जड़ी बूटियों के composition को मिलाकर बनी हुई है | जो की इस प्रकार है |

Hindi Name     English Name Benefits
काली मिर्च Black Pepper यह पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड के स्राव को बढ़ाता है जो पाचन क्रिया में मददगार साबित होता है |
ईख Saccharum Officinarum इसमे रक्त और पित्त के विकिरण को सामान्य करने के गुण होता है |
अमलतास Cassia Fistula यह रोग हत्यारा के रूप में भी जाना जाता है जिस कारण आयुर्वेद इसे दवा के रूप में इस्तेमाल करते है |
गुंदे Cordia Dichotoma आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा प्रणाली इसका इस्तेमाल सर्दी, खाँसी, सीरीज़ा, बुखार और त्वचा रोगों के इलाज के लिए किया जाता है |
भृंगराज Eclipta Alba यह हमारे liver को स्वस्थ रखता है और साथ ही कई समस्याओ का भी इलाज करता है |
तेजपत्र Cinnamomum Tamala इसमे यौगिकों, विटामिन और खनिज की उपस्थिति होती है जो हमारे पाचन के साथ साथ diabetes जैसे समस्या से सुरक्षित रखता है |
अदरक Zingiber Officinale इसमे anti-blood-clotting ability होती है जिसके नियमित सेवन से ह्रदय सम्बंधित समस्या नहीं होती |
लौंग Syzygium Aromaticum इसमे anti-fungal, antibacterial, antiseptic एवं analgesic गुण मौजूद होते है जो हमारे दांत एवं मुह सम्बंधित कई समस्याओ का समाधान करता है |
मुलेठी Glycyrrhiza मुलेठी का नियमित सेवन से श्वसन तंत्र मजबूत होता है |
मकोय Solanum Indicum मकोय में anti-oxidant, anti-inflammatory, diuretic and antipyretic आदि तत्व पाए जाते है जो स्वस्थ रखते है |
वसाका Adhatoda Vasica वसाका का इस्तेमाल अस्थमा, bronchitis, tuberculosis एवं अन्य फेफड़े सम्बंधित समस्या में किया जाता है |
बाकस Justica Gendarussa पुरुषो एवं महिलाओ के द्वारा इसका सेवन गर्भनिरोधक के रूप में किया जाता है एवं साथ ही इसके मदद से कैंसर, Bacterial infections, Hepatotoxicity, Oxidative stress एवं Parasitic infections जैसे समस्या का समाधान किया जाता है |
छोटी पीपल Piper Longum इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से दांत एवं ह्रदय सम्बंधित समस्या में किया जाता है |
तुलसी Ocimum Sanctum हमारे आस पास पाए जाने वाला यह बहुगुणी पौधा है | इसके नियमित इस्तेमाल करने से शरीर में कई प्रकार की समस्या नहीं होती |
बनफ्सा Viola Odorata यह औषधीय गुणों में समृद्ध है जिसके सेवन से कई समस्या का समाधान होता है |

Uses of  Divya Swasari / उपयोग

यह भस्म एक प्रकार का time-tested remedy है | इस औषधि में इस्तेमाल होने वाले herbal content हमारे गले से खरास तथा हमारे साँस से virus को नष्ट करने में मदद करते हैं | इस रस का इस्तेमाल जिन रोगों के निवारण के लिए किया जाता है वे निम्नलिखित हैं |

  • इस रस के सेवन से सांस की कोशिकाओं को पोषित करता है |
  • इस उपचार से Lungs सही से कार्य करते है |
  • इस भस्म के रस के सेवन से अस्थमा जैसी बीमारियाँ भी ठीक होती है |
  •  Immunity Power को बढाती है |
  • खांसी की समस्या को भी ठीक करती है |

Side Effects of Divya Swasari Bhasm / दुष्परिणाम

यह रस एक herbal रस इसलिए इस भस्म का कोई side effect नहीं होना चाहिए | लेकिन फिर कभी कभी पेट के दर्द की शिकायत देखी गयी है | अगर किसी तरह का दुष्प्रभाव दिखता है तो , तुरंत अपने चिकित्सक से मिलिए |

इससे मिलती जुलती पतंजलि की और कई आयुर्वेदिक दवा है जैसे:

Precautions /सावधानियां

इस दवा को उपयोग मे लाने से पहले कुछ सावधानियां बरतनी जरुरी है | उनको हम अनदेखा नहीं कर सकते है | निम्नलिखित कुछ सावधानियां है जो की इस प्रकार हैं :-

  • Hyper Asthama और कोई भी जटिल समस्या में इसका उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से जरुर बात कर लें |
  • अगर आप इस दवाई के साथ और भी दवाइयां ले रहे है तो दोनों के बीच में Time Interval होना जरुरी है |
  • गर्भवती स्त्रियां इसका सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से संपर्क कर लेना चाहिए |

Dose / खुराक

इस भस्म को अपने मन के मुताबिक इस्तेमाल बिलकुल न करे, इसके ठीक उसी प्रकार से सेवन करें जैसे कि आपके चिकित्सक ने आपको निर्देश दिया है | निम्नलिखित कुछ निर्देश है जो अक्सर डॉक्टर द्वारा दिया जाता है |

  • इस  भस्म  का इस्तेमाल 500 मिलीग्राम से 1 ग्राम तक की मात्रा लिया जा सकता है |
  • इसे एक दिन में दो से तीनबार ही लिया जाना चाहिए है  |
  • इसका सेवन खाना खाने से आधा घंटा पहले शहद के साथ लेना चाहिए |
  • बच्चों को देने से पहले चिकित्सक की सलाह जरुर लें |

Price / मूल्य

इस दवा को किसी भी Patanjali  store से प्राप्त किया जा सकता है | इस भस्म का MRP price Rs. 20.00/- ( PER PACK ) है |

Leave a Comment