HIV Full Form in Hindi – क्या है, कैसे होता है और उपचार

क्या आपको मालूम है HIV Full Form in Hindi क्या होता है? आइये जानते है इस खतरनाक बीमारी का मतलब, यह कैसे होता है, HIV के कितने stages होते हैं, causes और कैसे इलाज संभव है |  यह एक non-curable रोग है | यह virus मानव प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है और इन्फ्लूएंजा, खांसी, tuberculosis आदि जैसी बीमारियों के संपर्क में आने से उसे और भी अधिक संवेदनशील बनाता है | एचआईवी विशिष्ट white blood cells को नष्ट कर देता है | यदि इन कोशिकाओं की एक बड़ी संख्या नष्ट हो जाती है, तो शरीर संक्रमण से लड़ नहीं सकता है | संक्रमण की प्रगति के रूप में, यह AIDS में बदल जाता है |

HIV Full Form



HIV = Human Immunodeficiency Virus / मानवीय प्रतिरक्षी अपूर्णता विषाणु

HIV को Human Immunodeficiency Virus कहा जाता है, इसे हिंदी में मानवीय प्रतिरक्षी अपूर्णता विषाणु कहते हैं | यह एक घातक वायरस है जो Acquired Immunodeficiency syndrome (AIDS) का कारण बनता है जो HIV संक्रमण का एक उन्नत चरण है ।

HIV मुख्य रूप से असुरक्षित यौन संबंध, दूषित रक्त संक्रमण, hypodermic needles,, और गर्भावस्था, प्रसव या स्तनपान के दौरान मां से बच्चे तक फैलता है | कुछ शारीरिक तरल पदार्थ, जैसे लार और आँसू, एचआईवी प्रसारित नहीं करते हैं | रोकथाम के तरीकों में सुरक्षित यौन, needle exchange programs, संक्रमित लोगों का इलाज शामिल हैं | AIDS पहले संयुक्त राज्य अमेरिका में 1981 में observed किया गया था | ऐसा माना जाता है कि HIV infection पश्चिम मध्य अफ्रीका के non human primates में उत्पन्न हुआ था और मनुष्य को हस्तांतरित किया गया था ।



How to diagnose HIV /  इसका इलाज कैसे करे 

मानव शरीर में इस बीमारी की उपस्थिति के परीक्षण करने का कोई उचित तरीका नहीं है क्योंकि एचआईवी बहुत छोटा है और रक्त से पृथक नहीं किया जा सकता है | इस बीमारे के निदान के लिए दुनिया के विभिन्न हिस्सों में इस्तेमाल की जाने वाली विभिन्न प्रक्रियाएं हैं | इस बीमारी के निदान के लिए सबसे आम परीक्षण ELISA (Enzyme-linked Immunosorbent Assay) परीक्षण है ।

Stages of HIV

HIV infection को तीन चरणों में बांटा गया है, जो की निम्नलिखित हैं :-

Acute HIV Infection: यह एचआईवी संक्रमण का पहला चरण है। आम तौर पर, इस बीमारी के लक्षण संक्रमण के तुरंत बाद प्रकट नहीं होते हैं | इसलिए, जब लोग HIV से संक्रमित होते हैं, तो उन्हें तुरंत पता नहीं चतला है | इसके शुरुआती लक्षणों के लिए लगभग दो से चार सप्ताह लग जाते हैं |

Chronic HIV Infection: यह संक्रमण का दूसरा चरण है | इस चरण में, वायरस शरीर में replicating  करना शुरू कर देता है जो धीरे-धीरे प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर देता है | आप बीमार नहीं दिखते या न महसूस करते हैं, इसलिए संभावना है कि आप इस बीमारी को दूसरों के संकर्मित कर सकते हैं | इसलिए, एचआईवी के लिए जल्दी परीक्षण बहुत महत्वपूर्ण है, भले ही आप ठीक महसूस कर रहे हों |

AIDS/Advanced Infection: यह इस संक्रमण का तीसरा और उन्नत चरण होता है | इस चरण में, आपका CD4 T-cell के संख्या 200 से नीचे चली जाती है और आपकी प्रतिरक्षा बहुत कम हो जाती है जिससे आप अवसरवादी संक्रमणों के लिए अधिक संक्रमित हो जाते हैं |

Common Causes of HIV / इस बीमारी के होने के कारण : 

इस बीमारी के संक्रमण के कुछ सामान्य कारण इस प्रकार हैं:-

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध के द्वारा |
  • संक्रमित Blood transfusion के द्वारा |
  • Hypodermic needles का उपयोग करके |
  • मां से एक बच्चे तक (जन्म से), यह स्तनपान द्वारा फैल सकता है |

Leave a Comment